Home » Q And A » Tax Implications - I Can Get A Tax Advantage On Personal Loan?

टैक्स की उलझनें - क्या मुझे पर्सनल लोन टैक्स छूट का फायदा मिल सकता है?

बलवंत जैन | Jan 19, 2013, 00:01AM IST
टैक्स की उलझनें - क्या मुझे पर्सनल लोन टैक्स छूट का फायदा मिल सकता है?

मैं एक वेतनभोगी व्यक्ति हूं और मैने पर्सनल लोन लिया है। क्या मुझे अपने लोन पर टैक्स छूट का फायदा मिल सकता है?    -आकाश चौधरी, पानीपत
- एक
वेतनभोगी व्यक्ति के लिए पर्सनल लोन के ब्याज भुगतान पर टैक्स छूट का कोई फायदा नहीं मिलता है। हालांकि अगर लोन घर खरीदने, निर्माण या इसकी मरम्मत के लिए लिया गया है और आप इसे साबित कर पाएं तो इसके लिए किए जा रहे ब्याज भुगतान पर आपको आयकर अधिनियम की धारा 24(बी) के तहत टैक्स छूट का फायदा मिलेगा।

ध्यान रहे कि अगर यह प्रॉपर्टी सेल्फ ऑक्यूपाइड है तो आपको 1.5 लाख रुपये के ब्याज भुगतान पर टैक्स छूट का फायदा मिलेगा। हालांकि जो प्रॉपर्टी किराए पर दी गई है उसके लिए ब्याज भुगतान पर टैक्स छूट की कोई सीमा नहीं है।

हमारे परिवार के सभी सदस्यों का मेडिक्लेम प्रीमियम भुगतान 25,000 रुपये का है। मैं प्रीमियम का शेष 10,000 रुपये कैसे क्लेम कर सकता हूं? मेरे पास हिंदू अनडिवाइडेड फैमिली (एचयूएफ) और पत्नी की भी इनकम टैक्स फाइल है।  - अनुपम, जयपुर
- इंश्योरेंस
प्रीमियम और प्रिवेंटिव हेल्थ चेकअप पर धारा 80डी के तहत टैक्स छूट का फायदा मिलता है। आपको प्रीमियम के शेष 10,000 रुपये पर टैक्स छूट का फायदा लेने के लिए अपने परिवार के कुछ सदस्यों का इंश्योरेंस प्रीमियम भुगतान पत्नी के अकाउंट या फिर एचयूएफ खाते से करना होगा।

इससे आपको टैक्स छूट का ज्यादा फायदा मिलेगा जो देय टैक्स की मार्जिनल दर पर आधारित होगा। याद रखें कि धारा 80डी के तरह एचयूएफ को भी टैक्स छूट फायदा मिलता है। ऐसे में कुछ सदस्यों के प्रीमियम का भुगतान एचयूएफ के खाते से भी किया जा सकता है।

मैंने पांच साल होल्ड करने के बाद एक कॉमर्शियल प्रॉपर्टी बेची है और इससे हुए फायदे को रेजीडेंशियल प्रॉपर्टी में निवेश कर दिया? क्या मुझे टैक्स भुगतान करना होगा?
- रविंद्र, भोपाल
- जैसा
कि आपने यह कॉमर्शियल प्रॉपर्टी 36 महीने से ज्यादा समय तक होल्ड करने के बाद बेची है तो आयकर अधिनियम 1961 की धारा 54एफ के तहत टैक्स छूट का फायदा लेने के लिए आपको नेट सेल कंसीडरेशन फॉर परचेज ऑफ रेजीडेंशियल प्रॉपर्टी में निवेश करना होगा।

जैसा कि आपने केवल कैपिटल गेन का निवेश किया है न कि नेट कंसीडरेशन का तो आपको टैक्स छूट का फायदा उसी अनुपात में मिलेगा। इस पर आपको कितनी टैक्स छूट मिलेगी इस बात का जिक्र धारा 54एफ में होगा।

मैने अपना घर मार्च 2012 में रजिस्टर करवाया था। क्या मैं ईएमआई के 1.5 लाख रुपये के ब्याज भुगतान पर साल 2011-12 के दौरान छूट लेने का पात्र हूं। यह मेरी प्री-ईएमआई नहीं है। मैंने वित्त वर्ष 2011-12 के दौरान जिस वास्तविक ईएमआई का भुगतान किया है उसमें मेरा ब्याज 1.5 लाख रुपये से ज्यादा हो जाता है। मैं इसके दस्तावेज फरवरी तक अपने ऑफिस को नहीं दे सका क्योंकि उस समय घर की रजिस्ट्री नहीं हुई थी।  - गुरमीत सिंह, चंडीगढ़
-आप
सही कह रहे हैं। होम लोन पर दिए गए ब्याज पर कर छूट तभी मिल सकती जब कि आपका घर साल के अंदर ही बनकर तैयार हो जाए। घर से मिली आय पर इनकम फ्रॉम हाउस प्रॉपर्टी के अंतर्गत टैक्स चुकाना पड़ेगा। प्रॉपर्टी के रजिस्ट्रेशन का दिन इसके लिए अहम नहीं है।

इसमें प्रॉपर्टी का निर्माण पूरा होने का दिन और इससे मिली आय मायने रखती है जिस पर टैक्स चुकाना पड़ेगा। टैक्स की राशि इस पर निर्भर करेगी कि इस घर का इस्तेमाल आप खुद से करते हैं या फिर इसे किराए पर दिया है।

अगर आप इसका इस्तेमाल खुद ही कर रहे हैं तो होम लोन के 1.5 लाख रुपये के ब्याज भुगतान पर छूट क्लेम कर सकते हैं। इसके अलावा, ईएमआई से पहले की ब्याज पर भी आपको टैक्स छूट का फायदा मिलेगा। अगर आपने घर किराए पर दिया है तो संपूर्ण ब्याज पर टैक्स छूट का फायदा मिलेगा।

मैं वित्त वर्ष 2011-12 में अपने नियोक्ता द्वारा दिए जा रहे 15,000 रुपये के मेडिकल रीइंबर्समेंट पर टैक्स छूट क्लेम नहीं कर सका। मेरे पास मेडिकल बिल की रसीदें है। आयकर रिटर्न भरते समय किस क्लॉज के अंतर्गत मैं इसे क्लेम कर सकता हूं?
- नईम, जोधपुर

-कानूनी तौर पर जो स्थिति है उसके हिसाब से नियोक्ता द्वारा मेडिकल खर्च के लिए 15,000 रुपये के रीइंबर्समेंट पर टैक्स छूट का प्रावधान है। हालांकि आप अपने वेतन पर टैक्स छूट का फायदा नहीं हासिल कर सकते हैं। मुझे लगता है कि आपके नियोक्ता ने यह राशि आपके वेतन में दी होगी जिसे आप मेडिकल रीइंबर्समेंट के तौर पर क्लेम कर रहे हैं।

इस कानून के तहत आपको 15,000 रुपये की छूट तब मिलेगी अगर यह रीइंबर्समेंट की श्रेणी में आएगा। जैसा कि आपने इसके लिए कोई दस्तावेज जमा नहीं किए हैं तो यह इस श्रेणी में नहीं आएगा। हो सकता है कि मेडिकल पर आपका खर्च इतना रहा हो पर यह टैक्स छूट के दायरे में नहीं आएगा।

बलवंत जैन
चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर, अपनापैसा डॉट कॉम


 

आपकी राय

 

क वेतनभोगी व्यक्ति के लिए पर्सनल लोन के ब्याज भुगतान पर टैक्स छूट का कोई फायदा नहीं मिलता है। हालांकि अगर लोन घर खरीदने, निर्माण या इसकी मरम्मत के लिए लिया गया है

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
4 + 7

 
विज्ञापन
 

मार्केट

Ethical voting

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment