Home » Personal Finances » Investment » Great Potential For New Heights In The New Year

नए साल में नई ऊंचाइयों के लिए काफी संभावनाएं

देवेन आर. चोकसे प्रबंध निदेशक, के. आर. चोकसे शेयर्स एंड सिक्यूरिटीज | Jan 07, 2013, 01:04AM IST
नए साल में नई ऊंचाइयों के लिए काफी संभावनाएं

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी ने 6000 अंकों का स्तर तोड़ा है और यह 6,016 अंकों के स्तर के आसपास विचरण कर रहा है। अगर यह बड़े वॉल्यूम के साथ आगे बढ़ता है तो मौजूदा स्तर पर कुछ प्रॉफिट बुकिंग की संभावना है और खरीदारों की दिलचस्पी के चलते यह 6,200 का स्तर छू सकता है


आरबीआई जनवरी की अपनी मौद्रिक नीति समीक्षा में संभवत: ब्याज दरों में कटौती कर सकता है साथ ही कंपनियों के नतीजे भी आने लगेंगे इससे बाजार में और रंग आएगा
आरआईएल, डीएलएफ, टाटा मोटर्स, एसबीआई, जैन इरीगेशन, बजाज फाइनेंस, नेटवर्क 18, टीवी 18 व टाटा स्टील सरीखे शेयर टॉप पिक में बने रहेंगे

प्रमुख सकारात्मक सुधारों, नीतिगत स्तर पर हुए बदलाव और मजबूत विदेशी संस्थागत निवेश (एफआईआई) प्रवाह के साथ कैलेंडर साल 2012 खत्म हुआ और इन्हीं वजहों से बाजार में तेजी की शुरुआत हुई। रिटेल, पेंशन व इंश्योरेंस सेक्टर में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई), नई यूरिया निवेश नीति, नेशनल इन्वेस्टमेंट बोर्ड (एनआईबी) का गठन यूपीए सरकार के सकारात्मक कदम रहे। वैश्विक ग्रोथ रिकवरी की आशाओं और इस सोच कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) जनवरी की अपनी मौद्रिक नीति समीक्षा में संभवत: ब्याज दरों में कटौती कर सकता है, के चलते पिछले दो सालों में पहली बार निफ्टी 6000 अंकों के ऊपर बंद हुआ।


इसके अलावा भी कई और कदम शेयर बाजार के लिए सकारात्मक रहे। अच्छे मैक्रो-इकॉनोमिक आंकड़ों ने भी अपवार्ड ट्रेंड को प्रोत्साहित किया। एचएसबीसी परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स ने भारतीय मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में आगे सुधार का संकेत दिया है जिससे दिसंबर में अच्छा प्रदर्शन होने की उम्मीद जागी है और यह नवंबर में 53.7 से उछल कर 54.7 पर यानी कि 6 महीने में अपनी सबसे ज्यादा ऊंचाई पर पहुंच गया।


वैश्विक मोर्चे पर एशियाई शेयरों में सकारात्मक माहौल रहा लिहाजा इक्विटी इंडेक्स 17 महीनों के अपने सर्वोच्च स्तर पर जा पहुंचा। यूरोपियन शेयर बाजारों में हालांकि पिछले गुरुवार को कम कारोबार हुआ। वैसे, वैश्विक अर्थव्यवस्था की रिकवरी में अमेरिकी मैन्युफैक्चरिंग व चीन के सेवा उद्योग की प्रगति से नई संभावनाएं दिखी हैं।


अगर भारतीय बाजारों की बात करें तो घरेलू बाजारों ने विगत सत्र की बढ़त को आगे ले जाते हुए सकारात्मक प्रदर्शन किया है बावजूद इसके कि अस्थिरता का खतरा बरकरार है। बाजार में कारोबार करने वाली कंपनियों को सी. रंगराजन के एक बयान से काफी राहत महसूस हुई। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की आर्थिक सलाहकार समिति के अध्यक्ष सी. रंगराजन ने यह कहा कि 2012-13 में करेंट एकाउंट डेफिसिट सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 4.2 फीसदी यानी कि पिछले वित्तीय वर्ष के स्तर पर, रहने की संभावना है।


लिहाजा रियल्टी, एनर्जी आदि शेयरों में काफी अच्छी खरीदारी हुई और इसकी वजह से नेशन स्टॉक एक्सचेंज का संवेदी सूचकांक निफ्टी 6000 के स्तर को पार करने में कामयाब हुआ।


सरकार ने वैश्विक आर्थिक सुस्ती की चपेट से परेशान एक्सपोर्टरों के लिए अतिरिक्त इंसेंटिव देने की घोषणा की है, इसमें मार्च 2014 तक और एक साल के लिए 2 फीसदी ब्याज दर सब्सिडी को एक्सटेंड करना शामिल है। एक्जिम बैंक के जरिए एक्सपोर्ट होने वाली परियोजनाओं के लिए सरकार ने 2 फीसदी ब्याज सब्सिडी की पायलट योजना भी शुरू की है।


सरकार ने राजकोषीय घाटे की लगातार चौड़ी होती खाई को कर संग्रहण बढ़ाने तथा खर्च पर लगाम के जरिये पाटने की व्यग्रता दिखाई है ताकि इससे जीडीपी ग्रोथ को ऊंची उड़ान हासिल हो सके। हालांकि, मौजूदा समय में रुपया समस्या खड़ी कर रहा है और यह पिछले कुछ महीनों से अस्थिर बना हुआ है। यह 52-53 के स्तर की ऊंचाइयां छूने के बाद मौजूदा समय में 54.7 प्रति अमेरिकी डॉलर पर बना हुआ है।


आउटलुक और सिफारिशें
आगे चलकर मेरा भरोसा है कि एफआईआई भारत को निवेश फोकस के रूप में दर्जा देते रहेंगे। अगर हम आंकड़ों की ओर देखें तो हमें यह बात साफ तौर पर पता चलती है कि पिछली तिमाही के दौरान ब्लू चिप कंपनियों व मिड कैप में निवेश सक्रियता बढ़ी हैं।


कहां करें निवेश
अडानी पोर्ट एंड सेज लि. : हमारी वैल्यू पिक अडानी पोर्ट एंड सेज लि. होने का कारण यह है कि दाहेज पोर्ट ने 46 करोड़ रुपये का राजस्व व 17 करोड़ रुपये का कर-पश्चात लाभ दर्ज किया है जबकि हजीरा पोर्ट ने कंटेनर कार्गो का ट्रायल शुरू कर दिया है और यह भी निकट भविष्य में वॉल्यूम हैंडिल करने के लिए तैयार है। मैं 2,500 करोड़ रुपये के मजबूत परिचालन कैश फ्लो, दाहेज, हजीरा व मर्मुगाओ में नई क्षमताओं तथा उद्योग जगत में बेहतर एबिटा मार्जिन की वजह से अडानी पोर्ट एंड सेज लि.की खरीदारी की सिफारिश करता हूं।


आगे के लिए निर्देश
निफ्टी ने 6000 अंकों का स्तर तोड़ा है और यह 6,०१६ अंकों के स्तर के आसपास विचरण कर रहा है। अगर यह बड़़े वॉल्यूम के साथ आगे बढ़ता है तो मौजूदा स्तर पर कुछ प्रॉफिट बुकिंग की संभावना है और खरीदारों की दिलचस्पी के चलते यह 6,200 का स्तर छू सकता है। मैं भरोसा करता हूं कि इस सिलसिले को पूरे साल तक चलना चाहिए। इसमें आगे चलकर अपसाइड का अच्छा स्कोप है।


इसके अलावा भारतीय रिजर्व बैंक-आरबीआई जनवरी की अपनी मौद्रिक नीति समीक्षा में संभवत: ब्याज दरों में कटौती कर सकता है तथा कॉरपोरेट अर्निंग सत्र के एक साथ मिल जाने से यह संभावना और भी बलवती हो जाती है कि मैक्रो फंडामेंटल में और भी रिकवरी होगी इससे बाजार में और रंग आएगा तथा सेंटिमेंट में भी सुधार होने की संभावना है। आरआईएल, डीएलएफ, टाटा मोटर्स, एसबीआई, जैन इरीगेशन, बजाज फाइनेंस, नेटवर्क 18, टीवी 18 व टाटा स्टील सरीखे शेयर टॉप पिक में बने रहेंगे।


देवेन आर. चोकसे प्रबंध निदेशक, के. आर. चोकसे शेयर्स एंड सिक्यूरिटीज

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
2 + 4

 
विज्ञापन
 

मार्केट

Ethical voting

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

जीवन मंत्र

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment